Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: लोन के वादे पर लाखों चपत लगा कर ठगकर फाइनेंस कंपनी फरार, केस दर्ज

0

बिरनो थाना के सियारामपुर चट्टी के पास संचालित एम पावर माइक्रो फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने ग्राहकों को ऋण के नाम पर लाखों की चपत लगा दी। संचालक ने ग्रामीणों को सस्ते ब्याज पर लोन देने का झांसा देकर लाखों रुपये वसूल लिए और फिर आफिस बंद करके फरार हो गए। खुद को एनजीओ का कर्मचारी बताकर लोन की प्रोसेसिंग फीस जमा कराई और फिर महीने तक फर्जी कागजों पर प्रक्रिया दौड़ाई। जब ग्राहकों की संख्या बढ़ी और लोन का दबाव बढ़ा तो कंपनी के कर्मचारी ताला डालकर लापता हो गए।

थाना क्षेत्र के सियारामपुर चट्टी पर पिछले कुछ दिनों पहले एक युवक ने फाइनेंस कंपनी खोली। खुद को राष्ट्रीय स्तर के एनजीओ और सरकारी स्वयं सहायता समूह का सदस्य बताया। लोगों को सरकारी कार्यक्रमों से जोड़ने का धता बताते हुए सरकार की योजनाओं में बड़ा फाइनेंस करने की बात भी कही। इसके बाद इस फाइनेंस बैंक के कर्मचारियों ने 40 हजार और 80 हजार रुपये का लोन देकर प्रति माह सस्ती दर पर किश्तों में ब्याज वसूलने की बात कहकर कई लोगों को अपने झांसे में ले लिया था। बदले में प्रति व्यक्ति से आधार कार्ड, बैंक पासबुक फोटो, 1850 रुपये एवं 1350 रुपये बीमा के नाम पर वसूल कर अपनी कंपनी का कार्ड एवं रशीद थमा दी थी। 

जब सोमवार को लोन के रुपये कब मिलेंगे, का पता करने के लिए ग्रामीण बिरनो थाना के सियारामपुर चट्टी पर स्थित इस कम्पनी के कर्मचारियों के किराए के आवास पर पहुंचे, तो पता चला कि यह लोग रविवार की रात में ही अपना सामान समेट कर फरार हो गए हैं। इनके फरार होने की जानकारी पर धोखाधड़ी के शिकार कासिमाबाद थाना के सराय मुबारक मरदह थाना के पृथ्वीपुर, नसिरुद्दीनपुर आदि दर्जनों गांवों के सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर जुट गयी। धोखाधड़ी के शिकार हुए मनीष कुमार, रामविलास, रामबाबू, वीरेंद्र शर्मा, सविता, रामाशीष, रमेश यादव, अनिल, जयप्रकाश कुशवाहा, रामजन्म, अरविंद यादव, सुरेश, असलम आदि ने बताया कि उनके बैंक पासबुक, आधार कार्ड, फोटो आदि भी जालसाज लेकर चले गए हैं। वह कहीं इन कागजातों का दुरुपयोग कर उन्हें फंसा सकते हैं, इस आशंका से सभी भयभीत हैं।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad