Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर में कई होटल और रेस्टोरेंट, परमीशन बिना होटलों में पार्टी और जश्न, पुलिस की निगरानी

0



गाजीपुर में कई होटल और रेस्टोरेंट के संचालकों ने बिना परमीशन ही नए साल की पार्टी आयोजित कर दिया। शासन की गाइडलाइन को दरकिनार करते हुए होटलों में नए साल के जश्न का आगाज भी हो गया। शहर के किसी भी होटल संचालक ने पुलिस, प्रशासन को कार्यक्रम के लिए आवेदन तक नहीं किया। होटलों की मनमानी और लापरवाही के चलते कोरोना प्रोटोकाल का भी इंतजाम नहीं किया गया। हालातों की जानकारी के बाद एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने तीन टीमें बनाकर शहर के होटलों पर निगहबानी में तैनात कर दी हैं। वहीं डीएम एमपी सिंह भी अधीनस्थों के साथ देर रात तक कानून व्यवस्था के चलते चक्रमण करते रहे।

गाजीपुर में इस साल नए वर्ष का आयोजन में कोरोना प्रोटोकाल को लेकर डीएम एमपी सिंह सख्त हैं। प्रशासन की ओर से पहले ही गाइडलाइनजारी करदी गई थी लेकिन होटलों ने नए वर्ष के जश्न में उसका ख्याल नहीं रखा। पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की मंशा को पलीता लगाते हुए गाजीपुर के होटलों में भीड़ जुटी। कोरोना प्रोटोकाल के अनुपालन बिना ही कई जगह रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन कियागया है। पुलिस और प्रशासनिक टीमों दरकिनार करते हुए जश्न मनाया गया। नए साल की पूर्व संध्या पर जश्न मनाने के लिए होटल व रेस्तरां संचालकों को जिलाधिकारी से अनुमति लेनी थी लेकिन किसी ने आवेदन नहीं किया। इसके लिए आनलाइन और आफलाइन दोनों तरह से आवेदन की सुविधा दी गई थी। 

आयोजनों का कार्ड बांटकर इन होटलों के संचालकों ने रसूख के चलते परमीशन लेने तक की जहमत नहीं उठाई। वहीं आयोजन के दौरान कोरोना संक्रमण रोकने के प्रभावी इंतजाम भी नहीं दिखे। कोरोना संक्रमण काल में नए साल के जश्न को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने बताया कि बिना अनुमति नए साल पर कार्यक्रमों का आयोजन करना शहर के सात होटलों को महंगा पड़ सकता है। पुलिस की तीन टीमों को होटलों की निगरानी के साथ कोरोना के अनुपालन जांचने को लगाया गया है। कार्यक्रम के दौरान कोरोना से बचाव के मुकम्मल इंतजाम नहीं रखने वालों को नोटिस देकर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

वहीं दूसरी ओर 31 दिसंबर की शाम से ही 2021 के स्वागत में जश्न मनाने की तैयारी में लोग नजर आए। खासतौर से युवा पीढ़ी पर्यटन स्थल, होटल व रेस्तरां में जुटी और इस दौरान गीत-संगीत का सिलसिला देर रात तक चलता रहा। कलक्ट्रेट, शहर केातवाली समेत सरकारी भवनों को दुल्हन की तरह सजाया गया। लोगों के घरों पर भी रंग बिरंगी झालरें और लाइटें रौनक बिखेरती नजर आई।।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad