Type Here to Get Search Results !

बनारस रेल इंजन बरेका में नए रेल इंजन ‘आशाकिरण को दिखाई हरी झंडी

0

बनारस रेल इंजन कारखाना (बरेका) में वित्तीय वर्ष 2020-21 में तैयार 200वें विद्युत रेल इंजन डब्ल्यूएपी-7 ‘आशाकिरण का लोकार्पण गुरुवार को किया गया। महाप्रबंधक अंजली गोयल की मौजूदगी में बरेका के दो सेवानिवृत्त कर्मचारियों यूएसएचपी यादव और केडी उपाध्याय ने हरी झंडी दिखाकर रेल इंजन को राष्ट्र को समर्पित किया।

कारखाना परिसर स्थित न्यू् लोको टेस्ट शॉप में आयोजित सादे समारोह में फूलों से सजे विद्युत रेल इंजन का विधिवत पूजन किया गया। इस मौके पर महाप्रबंधक ने अधिकारियों और कर्मचारियों को उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन के लिए बधाई दी। बताया कि कड़ी मेहनत एवं लगन से इस वित्तीय वर्ष के 255 विद्युत रेल इंजनों के लक्ष्य को पूरा करने के लिए संकट के दौर में लॉकडाउन होने के बावजूद सिर्फ 187 दिन में 200 विद्युत रेल इंजनों का निर्माण कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। 

कोविड-19 के कारण जो उत्पादन की क्षति हुई थी, न केवल उसे पूरा किया बल्कि पिछले वर्ष की तुलना में पांच अतिरिक्त- इंजनों का निर्माण किया है। बताया कि लोकार्पित रेल इंजन की क्षमता छह हजार अश्वशक्ति है। इसे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के भिलाई विद्युत लोको शेड को भेजा जा रहा है। जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस इंजन को तैयार करने में 98 फीसदी स्वदेशी उपकरणों का इस्तेमाल हुआ है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad