Featured

Type Here to Get Search Results !

देश के पहले ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर दौड़ी सबसे लंबी 116 वैगन वाली मालगाड़ी

0

देश के पहले ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर सबसे लंबी मालगाड़ी उद्घाटन के मौके पर चलाई गई। खुर्जा और भाऊपुर से चली मालगाड़ियों की लंबाई 116-116 वैगनों की थी। दोनों ओर से एक ही समय यानी दिन में 11:22 बजे चलीं मालगाड़ियां 1.5 किमी लंबी थीं। भाऊपुर से खुर्जा को जाने वाली मालगाड़ी में कोयला तो खुर्जा से भाऊपुर आने वाली मालगाड़ी में गेहूं और खाद्यान्न लोड रहा। 

न्यू भाऊपुर जंक्शन की दिल्ली रूट से कनेक्टिविटी का काम बीते सोमवार को ही पूरा हुआ था। न्यू भाऊपुर जंक्शन पर हुए समारोह में सांसद सत्यदेव पचौरी, सांसद देवेंद्र सिंह भोले, विधायक प्रतिभा शुक्ल, नीलिमा संखवार के अलावा डीएफसी के बीएस गरियाल और निदेशक अंशुमान शर्मा की मौजूदगी रही। भाऊपुर से कोयला लदी मालगाड़ी दिन में 11:22 बजे चलकर खुर्जा जंक्शन पर शाम 16:24 बजे पहुंची। इस ट्रेन की औसत गति 65 किमी रही। खुर्जा जंक्शन से दिन में 11:22 बजे चली गेहूं लदी मालगाड़ी भाऊपुर स्टेशन पर शाम 16:40 बजे आई। इसकी औसत गति 63 किमी प्रति घंटा रही।   

डीएफसी ट्रैक का नया रिकॉर्ड

भारतीय रेल के इतिहास में आज तक 351 किमी की दूरी किसी मालगाड़ी ने इतने कम समय में तय नहीं की है। इसके अलावा डीएफसी ट्रैक पर इतनी लंबी लोड मालगाड़ी भी पहली बार चलाई गई। 

साल भर में दादरी से प्रयागराज तक ट्रैक होगा तैयार

डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के अफसरों ने बताया कि खुर्जा से दादरी के बीच मार्च-2021 तक डीएफसी ट्रैक तैयार हो जाएगा। इसी तरह दिसंबर-2021 तक भाऊपुर से सुजातपुर (प्रयागराज) तक डीएफसी ट्रैक का काम पूरा हो जाएगा। जनवरी-2022 में दादरी से प्रयागराज तक मालगाड़ियां डीएफसी पर दौड़ने लगेंगी।  

100 की स्पीड से चलेंगी मालगाड़ियां

भाऊपुर से खुर्जा के बीच जल्द ही मालगाड़ियां 100 की स्पीड से चलेंगी। इसके साथ ही लोडिंग-अनलोडिंग के लिए न्यू भाऊपुर जंक्शन पर शेड भी बनेगा। डीएफसी के बीएस गरियाल ने बताया कि यह काम जल्द पूरा कराया जाएगा। 

अब मेल, एक्सप्रेस भी 130 की स्पीड से

सब कुछ ठीकठाक रहा तो अप्रैल-2021 से दादरी से कानपुर के बीच चलने वाली मेल, एक्सप्रेस ट्रेनें भी 130 किमी प्रति घंटे की गति से चलने लगेंगी। खुर्जा से दादरी के बीच निर्माणाधीन डीएफसी ट्रैक मार्च-2021 तक फिट हो जाएगा। अभी दादरी से कानपुर तक मेल, एक्सप्रेस की गति 100-110 किमी रहती है। इसके अलावा शाम को दिल्ली से चलने वाली आधा दर्जन राजधानी एक्सप्रेस, कानपुर शताब्दी भी रास्ते में कहीं मालगाड़ी के फेर में नहीं फंसेंगी।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad