Featured

Type Here to Get Search Results !

पंचायत चुनाव में इस बार किन सरकारी कर्मचारियों की नहीं लगेगी ग्राम प्रधान इलेक्शन में ड्यूटी

0

यूपी में पंचायत चुनाव के लिए वोटर लिस्ट, परिसीमन और आरक्षण सूची तैयार करने का काम जोरों पर है। इसके साथ ही चुनाव कराने के लिए कर्मचारियों की लिस्ट भी तैयार होने लगी है। इसके लिए सभी विभागों से कर्मचारियों का ब्योरा मांगा गया है, जो उन्हें 31 दिसंबर तक देना होगा। सरकारी तैयारियों को देखकर अनुमान है कि 31 मार्च से पहले प्रदेश में पंचायत चुनाव हो जाएंगे। 

कोरोना काल को देखते हुए इस बार आयोग का निर्देश है कि किसी भी बूथ पर मतदाताओं की संख्या आठ सौ से अधिक नहीं होगी। ऐसे में हर जिले में बूथों की संख्या बढ़ेगी। प्रत्येक केंद्र पर पांच कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी।इस वजह से इस बार ज्यादा कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगेगी। निर्वाचन आयोग द्वारा इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर विकसित किया है। सभी विभागों को अधिकारियों और कर्मचारियों का ब्योरा प्रपत्र एक पर 22 दिसंबर तथा प्रपत्र दो पर 31 दिसंबर तक फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा हार्ड कॉपी भी उपलब्ध करानी होगी।

कर्मचारियों को ब्योरा फीड कराने के लिए झांसी जिले में एडीएम (प्रशासन) बी प्रसाद को प्रभारी अधिकारी कार्मिक, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी आसिफ खान को सह प्रभारी अधिकारी कार्मिक, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी को जिला इंचार्ज तथा सभी कार्यालयाध्यक्ष व विभागाध्यक्षों को कार्यालय इंचार्ज बनाया गया है। झांसी के सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी गुलाब हुसैन ने बताया कि  पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से जारी हैं। विभागों से कर्मचारियों का ब्योरा मांगा गया है। ये उन्हें इलेक्शन स्टाफ डेप्लॉयमेंट (ईएसडी) सॉफ्टवेयर पर फीड करना होगा। इसके लिए विभागों को यूजर आईडी और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा।

इन कर्मचारियों की नहीं लगेगी ड्यूटी :  जो कर्मचारी 30 जून 2021 तक सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं, उनकी पंचायत चुनाव में ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी। इसके अलावा गर्भवती महिला, दिव्यांग, गंभीर रूप से बीमार एवं आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों की ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad