Featured

Type Here to Get Search Results !

UP : इस वर्ष के अंत तक स्कूलों में पहुंच जाएंगे टैबलेट, शिक्षकों को लगानी होगी बायोमीट्रिक हाजिरी

0

उत्तर प्रदेश के सभी सरकारी प्राइमरी स्कूलों में टैबलेट इस वर्ष के अंत तक पहुंच जाएंगे। प्रदेश के 1.59 स्कूलों के प्रधानाचार्यों को एक-एक टैबलेट दिया जाना है। इसकी खरीद की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बेसिक शिक्षा विभाग को 1,64,323 टैबलेट खरीदने हैं और इसमें 150 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। 

वर्ष के अंत तक टैबलेट स्कूलों तक पहुंच जाएंगे। टैबलेट के लिए कम्पनियां 29 सितम्बर तक आवेदन कर सकेंगी। कम्पनियों को ब्लॉक स्तर पर टैबलेट की सप्लाई देनी होगी। इस टैबलेट में बायोमीट्रिक हाजिरी की व्यवस्था है। इसके जरिए प्रधानाचार्यों व शिक्षकों की जवाबदेही तय की जाएगी। पिछले सत्र में भी टैबलेट की योजना आई थी लेकिन इसके टेण्डर में ज्यादा कम्पनियां नहीं आईं थीं। इक्का-दुक्का कम्पनियों के चलते खरीद प्रक्रिया पूरी नहीं की गई। इस बार फिर से टैबलेट प्रधानचार्यों को देने की तैयारी है। प्रधानाध्यापकों के अलावा इसे 4400 अकादमिक रिसोर्स पर्सन और 880 ब्लॉक रिसोर्स सेण्टर को भी टैबलेट दिया जाएगा। इसके साथ डाटा प्लान भी दिया जाएगा। राज्य स्तर पर इसका कंट्रोल रूम बनाया जाएगा और जिला स्तर पर भी कंट्रोल रूम तैयार होगा। 

पिछले सत्र में राज्य सरकार ऐसे टैबलेट की खरीद करने जा रही थी जिससे फोटो के माध्यम से हाजिरी ली जा सके। जियोटैगिंग से शिक्षकों की हाजिरी सुनिश्चित की जाती। लेकिन सेल्फी के माध्यम से हाजिरी का खूब विरोध हुआ जिसका तोड़ निकालते हुए सरकार ने बायोमीट्रिक हाजिरी वाले टैबलेट की व्यवस्था की है। इसके माध्यम से बच्चों की हाजिरी भी सुनिश्चित करने की योजना है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad