वाराणसी में टूटने लगा मैदागिन-नीचीबाग का पाथवे, तीन करोड़ रुपए हुए थे खर्च - Dildarnagar News | Ghazipur News✔ ग़ाज़ीपुर न्यूज़ | लेटेस्ट न्यूज़ इन हिंदी ✔

Breaking News

Sunday, 27 September 2020

वाराणसी में टूटने लगा मैदागिन-नीचीबाग का पाथवे, तीन करोड़ रुपए हुए थे खर्च

स्मार्ट सिटी योजना के तहत मैदागिन से नीचीबाग तक बना पाथवे टूट रहा है। सड़क के दोनों किनारों पर इसका ज्यादातर हिस्सा टूट चुका है। पाथवे पर तीन करोड़ रुपये खर्च हुए थे। ठेकेदार को इसका भुगतान भी हो चुका है। इस पाथवे के टूटने के साथ ही नगर निगम ने 81 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट की फाइल बंद कर दी है। 

मैदागिन से बुलानाला, नीचीबाग तक करीब एक किमी लंबे पाथवे का निर्माण हुआ था। इसके संबंध में शहरी विकास मंत्रालय तक शिकायत पहुंची थी। तब शहरी विकास सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने इस वर्ष मार्च में निरीक्षण किया था। 

इस प्रोजेक्ट के तहत मैदागिन से बांसफाटक तक जल निकासी के लिए छोटे नाले भी बनाए गए थे। सफाई न होने कारण स्थानीय लोग गंदगी से पटे नालों को भी तोड़ने की मांग कर रहे हैं। मैदागिन से पहले लहुराबीर से पिपलानी कटरा के बीच पाथवे बनाया गया था। उसका भी स्थानीय लोगों व जनप्रतिनिधियों ने विरोध किया था। 

काशी कागज व्यवसायी संघ के अध्यक्ष गौरीशंकर नेवर ने बताया कि पाथवे का शुरू से विरोध किया जा रहा था। इसकी कोई उपयोगिता नहीं थी। काशी व्यापार प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष राकेश जैन ने बताया कि ढलाई करके नाली बनाई गई थी। ऊंची होने के कारण इसकी सफाई भी नहीं हो पाती थी। पाथवे पर सवाल उठने के बाद भी करोड़ों रुपये पानी में बहा दिए गए। 

10.5 किमी लंबे पाथवे का था प्रस्ताव
साल 2018-19 में स्मार्ट सिटी योजना के तहत 10.5 किमी लंबे पाथवे का प्रोजेक्ट बना था। शुरू में प्रोजेक्ट की लागत 75 करोड़ रुपये थी जो बाद में 81 करोड़ रुपये हो गई। लहुराबीर से कबीरचौरा, मैदागिन, चौक, गोदौलिया, सोनारपुरा, अस्सी, भेलूपुर, गिरजाघर, नई सड़क, चेतगंज होते हुए इसका निर्माण होना था। इस रूट पर ट्रैफिक को वन-वे करने की योजना थी।  

No comments:

Post a comment