Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: पिस्टल से चली गोली में बस कंडक्टर की मौत, खलासी गंभीर

0

शहर कोतवाली क्षेत्र के रौजा बस स्टैंड पर शनिवार की रात चली गोली में अजामगढ़ के सिधारी थाने के चकभाई खां गांव निवासी कंडक्टर रामकवल यादव (50) की मौत हो गई। वहीं खलासी गंभीर रूप से घायल हो गया। गोली चलने के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। रविवार को रामकवल के बड़े भाई दयाराम यादव की तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिस पिस्टल से गोली चली है उसके लाइसेंस धारक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है और पिस्टल को भी जब्त कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार रामकवल यादव करीब 30 वर्ष से एक प्राइवेट बस में कंडक्टर काम करता था। शनिवार की रात करीब साढ़े आठ बजे रौजा पर स्थित मुहम्मदाबाद बस स्टैंड में हिसाब हो रहा था। इसी दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में लाइसेंसी पिस्टल से गोली चल गई। गोली कंडक्टर रामकवल और भांवरकोल निवासी खलासी संजय गांधी यादव (40) को लग गई। तेज आवाज सुनकर मौके पर आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई। आनन-फानन में दोनों घायलों को जमानियां मोड़ स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने रामकवल को मृत घोषित कर दिया। वहीं घायल संजय गांधी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया, जहां उसका इलाज चल रहा है। 

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इसकी जानकारी होने पर मृतक के परिवार के लोग भी पहुंच गए। परिजनों ने बताया कि रात करीब दस बजे हमें सूचना मिली कि रामकवल घायल है और अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। यहां आने पर उन्हें मालूम हुआ रामकवल की गोली लगने से मौत हो गई है। रामकवल चार भाई है। इसके एक पुत्र शनि (19) और पुत्री एकता (21) है। रविवार को पूरे दिन इसको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं होती रही। कोतवाली में एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी व सीओ सिटी ओजस्वी चावला पूरे दिन जमे। परिजन पहुंच तो शनिवार की रात में ही गए थे, लेकिन एफआइआर रविवार की शाम में दर्ज हुआ।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad