Featured

Type Here to Get Search Results !

मदद के हाथ बढ़े तो बिहार में खुले 16 ऑक्सीजन बैंक, गरीबों को एक फोन कॉल पर मिलता है फ्री ऑक्सीजन सिलेंडर

0

पटना के कृष्णा नगर निवासी गौरव राय को जुलाई के अंतिम सप्ताह में सांस लेने में दिक्कत हुई। जांच में ऑक्सीजन की कमी का पता चला। काफी कठिनाई से ऑक्सीजन का इंतजाम हुआ तो जान बची। बस फिर क्या था, वे पत्नी के साथ मिलकर जुट गए लोगों की जिंदगी बचाने में। पहले खुद तीन ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे। पांच दोस्त ने दिए। अब गौरव सिलेंडरमैन बन गए हैं। इस काम में उनकी मददगार बनी सरकारी संस्था बिहार फाउंडेशन। फाउंडेशन के इस मुहिम में जुड़ने के बाद कई और लोग मदद के लिए आगे आए। पहल रंग लाई। आज बिहार के 16 जिलों में ऑक्सीजन बैंक खुल चुके हैं। गरीबों को एक कॉल पर ऑक्सीजन सिलेंडर मुफ्त मिल रहे हैं।

गौरव ने जब फेसबुक पर गरीबों तक मुफ्त ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाने का संकल्प जाहिर किया तो कई लोगों ने मदद की। बिहार फाउंडेशन की मदद से पटना से शुरू हुई ऑक्सीजन बैंक की मुहिम अब राज्य के 16 जिलों तक पहुंच गई है। फाउंडेशन के मुंबई चैप्टर की ओर से प्रवासी बिहारी 50 सिलेंडर भेज चुके हैं। इतने ही अभी और देने का वादा किया है। वहीं, पटना सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में रहने वालों ने भी अपनी सामर्थ्य के अनुसार इस मुहिम में एक-दो या चार सिलेंडर का योगदान दिया है। 

एक्ट ग्रांट ने दिए 200 सिलेंडर 
गरीबों तक मुफ्त ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाने की इस मुहिम से प्रभावित होकर एक्ट ग्रांट संस्था ने बिहार फाउंडेशन के जरिए 200 सिलेंडर पटना भेजे हैं। यह संस्था करीब 300 स्टार्टअप के समूह द्वारा संचालित है। जो कोविड-19 में देशभर में मदद की मुहिम चला रही है। इस तरह ऑक्सीजन बैंक बनाने का गौरव राय का दो सिलेंडर से शुरू हुआ सफर अब 334 सिलेंडर तक पहुंच चुका है।

Post a Comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad