राम मंदिर भूमि पूजन पांच अगस्त को: अलग ही रंग में रंग में नजर आने लगी राम नगरी - Dildarnagar News and Ghazipur News✔ Buxar News | UP News ✔

Breaking

google.com, pub-3803675606503407, DIRECT, f08c47fec0942fa0

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Saturday, 1 August 2020

राम मंदिर भूमि पूजन पांच अगस्त को: अलग ही रंग में रंग में नजर आने लगी राम नगरी


पांच अगस्त को होने वाले श्रीराम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए अयोध्या को सजाने का काम तेजी से चल रहा है। चारों ओर साफ-सफाई और रंगाई-पुताई का काम चल रहा है। सरयू घाट से लेकर राम जन्म भूमि परिसर और गली-मोहल्लों तक को नए रंग में रंगा जा रहा है। बताया जा रहा है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करने अयोध्या आएंगे तो उन्हें हर तरफ त्रेता युग के जैसी तस्वीर देखने को मिलेगी। हर तरफ बहुरंगी छटा बिखेरे जाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं।

ड्रोन से होगी अयोध्या की निगरानी
डीजीपी एचसी अवस्थी ने बताया कि पांच अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री, राज्यपाल व मुख्यमंत्री समेत अन्य विशिष्ट लोगों की मौजूदगी के कारण ड्रोन कैमरे से भी अयोध्या की निगरानी की जाएगी। इसके अलावा छतों पर स्नाइपर भी तैनात किए जाएंगे। 

मुख्य सचिव आरके तिवारी व अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी के साथ अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेकर लौटे डीजीपी ने बताया कि सुरक्षा में पर्याप्त संख्या में पुलिस फोर्स लगाई जा रही है। सुरक्षा में तैनात किए जाने वाले पुलिसकर्मियों को मास्क और फेस शील्ड पहनकर ड्यूटी करने की हिदायत दी गई है। अयोध्या की तरफ आने वाले सभी मार्गों पर सघन तलाशी होगी।

रामायण कालीन प्रसंगों की आकृतियों को उकेरा:
अयोध्या आगमन पर प्रधानमंत्री मोदी के हेलीकाप्टर साकेत महाविद्यालय में बनाए जा रहे हेलीपैड पर उतरेंगे। यहां से प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से रामजन्मभूमि के लिए रवाना होंगे। रामजन्मभूमि में उन्हें भूमि-पूजन करना है। यहां से हनुमानगढ़ी दर्शन करने भी जाएंगे। साकेत कॉलेज से रामजन्मभूमि और हनुमानगढ़ी जाने वाले मार्ग के दोनों तरफ सभी भवनों की दीवारों पर त्रेता युग की झलक दिखलाते हुए रामायण कालीन प्रसंगों की आकृतियों को उकेरा जा रहा है। कहीं भगवान राम, सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्नन, हनुमान जी और ऐसे ही त्रेता युग से जुड़ी तस्वीरों को आकृति प्रदान की जा रही है। इसके लिए कलाकारों की फौज जुटी हुई है।

No comments:

Post a comment