Featured

Type Here to Get Search Results !

UP के 16 जिलों के 517 गांवों में बाढ़, शारदा और सरयू नदी ने खतरे के निशान को लांघा

1

उत्तर प्रदेश के 16 जिलों में 517 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। शारदा नदी पलिया कला लखीमपुरखीरी, सरयू (घाघरा) नदी तुर्तीपार बलिया में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। आपदा नियंत्रण के लिए राज्य व जिला स्तर पर कंट्रोल रूम को 24 घंटे सक्रिय रखने के निर्देश दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त संजय गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं बाढ़ प्रभावित जिलों की निगरानी कर रहे है। ऊपरी क्षेत्रों में स्थित बांधों व जलाशयों से पानी छोड़े जाने की लगातार जानकारी रखने के निर्देश दिए गए है। वरिष्ठ अधिकारियों को तटबंधों का नियमित निरीक्षण करने को कहा गया है। उन्होंने दावा किया कि अमूमन सभी तटबंध सुरक्षित हैं। एनडीआरएफ की 15 टीमें तथा एसडीआरएफ व पीएसी की सात टीमें तैनाती की गयी हैं। कुल 644 नावें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगायी गयी हैं।

राहत आयुक्त संजय गोयल ने बताया कि बाढ़ पीड़ित परिवारों को खाद्यान्न किट का वितरण कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बाढ़ आपदा से निपटने के लिए प्रदेश में 300 शरणालय तथा 735 चौकी स्थापित की गयी है। प्रदेश के 16 जिलों अंबेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, गोंडा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, मऊ, देवरिया, संतकबीरनगर, तथा सीतापुर के 517 गांवों बाढ़ से प्रभावित है। शारदा नदी, पलिया कला लखीमपुरखीरी, सरयू (घाघरा) नदी, तुर्तीपार बलिया में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। प्रदेश में 200 पशु शिविर स्थापित हैं। 6,17,920 पशुओं का टीकाकरण भी किया गया हैं।

Post a Comment

1 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad