Type Here to Get Search Results !

मीरजापुर: बाढ़ से नहीं जूझेंगे पांच दर्जन गांव, किसानों को मिलेगा पानी

0

मनरेगा के तहत भोका नाला की सफाई कार्य का शुभारंभ मंगलवार को जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व सीडीओ अविनाश सिंह ने फावड़ा चलाकर किया। इसके पहले जगदीशपुर गांव के पास विधिवत हवन-पूजन के बाद नारियल फोड़कर पांच दर्जन गांवों की बेहतरी के लिए अधिकारियों ने मन्नत किया। भोका नाले की सफाई से क्षेत्र के तकरीबन पांच दर्जन यानी 60 गांवों को बाढ़ की विभीषिका नहीं झेलनी होगी। साथ ही क्षेत्र के किसानों को सिचाई के लिए पानी भी उपलब्ध हो सकेगा। यही नहीं, साढ़े ग्यारह किमी भोका नाले की सफाई के दौरान 2700 मजदूरों को मनरेगा के तहत रोजगार भी मिलेगा।

जमालपुर क्षेत्र के भोका नाला की सफाई न होने से बारिश के मौसम में जलनिकासी की समुचित व्यवस्था न होने से क्षेत्र के पांच दर्जन गांवों को हर साल बाढ़ की विभीषिका से जूझना पड़ता है। भोका नाले की सफाई कराने की ग्रामीणों की मांग पर सीडीओ अविनाश सिंह ने बीडीओ हेमंत सिंह व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई। इसी के तहत मंगलवार को डीएम सुशील पटेल व सीडीओ अविनाश सिंह ने जगदीशपुर गांव के पास हवन-पूजन के साथ ही फावड़ा चलाकर भोका नाले की सफाई का विधिवत शुभारंभ किया। इस मौके पर डीएम ने बताया कि भोकानाला की सफाई से बरसात में क्षेत्र को बाढ़ की विभीषिका से बचाने के साथ ही जरूरत के समय सिचाई के लिए किसानों को पानी उपलब्ध कराया जा सकेगा।

इसकी सफाई होने से क्षेत्र के करीब 60 गांव लाभान्वित होंगे। सीडीओ अविनाश सिंह ने बताया कि 12 ब्लाकों में 31 हजार श्रमिकों को मनरेगा के तहत रोजगार से जोड़ा गया है। भोका नाले पर मनरेगा श्रमिकों द्वारा करीब साढ़े ग्यारह किलोमीटर सफाई का कार्य कराया जाएगा। इसमें 2700 श्रमिकों को लगाकर नाले की सफाई कार्य का शुभारंभ कराया गया है। नाला की सफाई होने से अधिक से अधिक श्रमिकों को रोजगार भी मिलेगा।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad