Featured

Type Here to Get Search Results !

Shramik Special ट्रेनों के लेट होने से यात्रियों को हो रही दिक्‍कत, रास्‍ते में भोजन-पानी नहीं मिलने से बेहाल

0

वाराणसी जंक्शन पर मंगलवार को सर्वाधिक दबाव रहा। सुबह 8 बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक 6 हजार श्रमिक पहुंचे। वाराणसी कैंट स्‍टेशन व मंडुआडीह आने वाली ट्रेनें काफी लेट हो रही है और रास्‍ते में भोजन-पानी नहीं मिलने से यात्रियों का हाल बेहाल है। वाराणसी कैंट से गुजरने वाली गाड़ी संख्या 09137 सूरत- जौनपुर स्पेशल निर्धारित समय से 13 घंटे लेट एक दिन बाद दोपहर 12.40 बजे आई। जिसे यही टर्मिनेट कर दिया गया। वहीं, इसके पूर्व आठ घंटे विलंब से पहुंची गाड़ी संख्या- 01747 एलटीटी- वाराणसी स्पेशल में भी भीड़ रही। गाड़ी संख्या- 04016 निजामुद्दीन- वाराणसी स्पेशल ट्रेन में श्रमिको की संख्या कम थी। वहीं मंडुआडीह स्टेशन पर मुंबई से आई श्रमिक स्पेशल ट्रेन 10 घंटा 45 मिनट देरी से पहुंची। इस ट्रेन में करीब 1400 यात्री रहे। इस ट्रेन में वाराणसी के अलावा आसपास के जिलों के लोग भी थे।

श्रमिकों के हंगामा को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने किए कई अहम बदलाव
रोज हो रहे हंगामा को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने कई अहम बदलाव किए हैं। इसके तहत वाराणसी जंक्शन से गुजरने वाली हर श्रमिक स्पेशल ट्रेन में भोजन व पानी का प्रबंध करने का निर्देश दिया गया है। वाराणसी जंक्शन से गुजरने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में स्थानीय प्रशासन की तरफ से पानी की बोतल और केले बांटे जा रह है। वहीं, आइआरसीटीसी के कर्मचारियों ने भी कुछ ट्रेनों में खाने का पैकेट वितरण का आयोजन किया गया।

मंडुआडीह स्टेशन पर पहुंची ट्रेन 10 घंटा 45 मिनट देरी से
मंडुआडीह स्टेशन पर मंगलवार को सुबह करीब 10 घंटे 45 मिनट लेट से 09591 श्रमिक स्पेशल बोरीवली से मंडुआडीह पहुंची। ट्रेन से उतरे यात्रियों ने कहा कि यह ट्रेन प्रयागराज में ही करीब ढाई घंंटे तक खड़ी रही। यात्रियों को ट्रेन में भोजन कहीं नहीं मिला। उत्‍तर प्रदेश के कुछ स्‍टेशन पर पानी जरूर मिला। इस ट्रेन में करीब 1400 यात्री रहे। थर्मल स्‍क्रीनिंग के बाद इनकों घर जाने दिया गया। इस ट्रेन में वाराणसी के अलावा आसपास के जिलों के यात्री भी रहे।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad