Featured

Type Here to Get Search Results !

गाजीपुर: नहीं मिल रहा सब्जियों का उचित मूल्य, किसान परेशान

0

गहमर : लाकडाउन के दौरान किसानों की हालत खराब है। उनकी सब्जी का लागत मूल्य भी नहीं निकल पा रहा है। किसान खेत से सब्जियां तोड़वा कर जब तक मंडी तक पहुंचते हैं, तब तक उसके बंद होने का समय हो जाता है। ऐसे में औने-पौने दामों पर सब्जियों को बेचनी पड़ रही हैं। इस बार ईश्वर ने ऐसी तबाही मचा रखी है, जिसके चलते किसान बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं। भदौरा ब्लाक के सायर के किसान ओमप्रकाश यादव पांच एकड़ में खीरा, तरबूज, खरबूज, लौकी और कद्दू जैसी सब्जियों की खेती किए हैं। 

इसमें उनका करीब ढाई लाख की लागत आई है। लॉकडाउन के चलते इस बार फसल का सही मूल्य नहीं मिल पा रहा है। स्थानीय गांव समेत गहमर, भदौरा, दिलदारनगर, जमानियां बाजार आदि क्षेत्र के विभिन्न गावों मे साप्ताहिक बाजारों और सड़क किनारे लगने वाले मंडी बंद होने के चलते टमाटर, हरी मिर्च, गोभी, धनिया, कद्दू, लौकी, खीरा जैसी सब्जियां और फलों की खेती करने वालों को भारी नुकसान हुआ है। शहरों में सब्जियां कई गुना महंगी बिक रही हैं, लेकिन गांवों में किसानों को उनका लागत भी नहीं मिल पा रहा। वहीं अशोक यादव, मुखलाल चौधरी, भीष्मदेव चौधरी, राजकुमार कुशवाहा, लक्ष्मण यादव, रामबहादुर सिंह, विष्णुदेव यादव, देवराज आदि का कहना है कि लॉकडाउन के कारण सब्जियों का उचित मूल्य नहीं मिल पा रहा है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad