Type Here to Get Search Results !

गोरखपुर शहर के एक सौ निजी अस्पतालों को दिए जाएंगे मास्क, थर्मल स्कैनर व पीपीई किट

0

कुल एक सौ निजी अस्पताल सरकार की दो योजनाओं से जुड़े हैं। आयुष्मान भारत योजना से 62 व हौसला साझेदारी मिशन से 38 अस्पताल जुड़े हैं। इसमें से 10 ऐसे अस्पताल हैं जो दोनों योजनाओं में सूचीबद्ध हैं। इस तरह कुल एक सौ अस्पतालों को स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना सुरक्षा किट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। सभी को कुल मिलाकर दो हजार पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट) किट, एक हजार एन 95 मास्क व 500 थर्मल स्कैनर प्रदान किए जाएंगे।

आयुष्‍मान योजना के कोरोना के मरीजों का होगा निश्‍शुल्‍क इलाज
सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी ने बताया कि अगर आयुष्मान योजना का लाभार्थी कोरोना पॉजिटिव पाया जाता हैं, तो इन अस्पतालों में अपना इलाज निशुल्क करा सकता है। केंद्र सरकार ने आयुष्मान योजना में कोविड-19 के इलाज को भी शामिल कर लिया है। अन्य इलाज तो पहले से ही शामिल हैं। डॉक्टर मरीजों का इलाज पूरी सुरक्षा के साथ कर सकें, इसलिए इन अस्पतालों को विभाग ने सुरक्षा उपकरण देने का निर्णय लिया है।

शहर में बन रहा खादी का मास्क, बनेंगे खादी के बनियान
गोरखपुर शहर में खादी वस्त्र से मास्क बनाने का काम शुरू हो गया है। इंडस्ट्रियल इस्टेट में चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज की ओर से संचालित केंद्र में महिलाओं ने शुक्रवार को खादी वस्त्र से मास्क बनाया। भविष्य में बनियान बनाने की भी तैयारी है। लॉकडाउन के पहले दिन से ही इस केंद्र में मास्क बनाए जा रहे हैं। पहले बुनकरों द्वारा तैयार कपड़े से मास्क बनाया जाता था। 12 महिलाएं मास्क तैयार करने के काम में लगी हैं। 

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad