Type Here to Get Search Results !

लॉकडाउन के 60 दिन में कोरोना वायरस की रफ्तार धीमी पड़ी, पिछले हफ्ते से कम हुई नए मरीज की संख्या

0

लॉकडाउन के नियमों में सख्ती का नतीजा सामने आ रहा है। कोरोना वायरस की रफ्तार धीमी पड़ी है। 18 में अब सिर्फ आठ हॉटस्पॉट ही बचे  हैं। संक्रमण से जूझ रहे 10 इलाकों में मरीजों के मिलने की संख्या काफी हद तक थम गई है। बाकी आठ हॉटस्पॉट में भी मरीजों का ग्राफ घटा है। इनमें भी दो ही इलाकों में पिछले एक हफ्ते से ज्यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं।

कोरोना संक्रमण की वजह से राजधानी के 18 इलाकों में ताला लग गया था। लोग घरों में कैद होकर रह गए थे। सिर्फ जरूरमंदों को ही घर से निकलने की छूट दी गई है। सोशल डिस्टैसिंग का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है। संक्रमित इलाकों में सैनेटाइजेशन व साफ-सफाई की रफ्तार बढ़ाई गई। नतीजतन, कोरोना वायरस पीछे कदम खींचने को मजबूर हो गया है। सबसे ज्यादा सदर में कोरोना ने कहर बरपाया। अब यहां एक-दो मरीज ही सामने आ रहे हैं। इस समय कैसरबाग में कोरोना संक्रमित मरीज दहाई की संख्या में मिल रहे हैं। इधर बीच, निशातगंज में छुटपुट मरीज मिल रहे हैं। इन्हें सील कराने के बाद जांच समेत दूसरे कदम उठाए जा रहे हैं। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक दोनों ही इलाकों मे अधिक सतर्कता बरती जा रही है। इन पर भी जल्दी काबू पा लिया जाएगा।

मुंबई से लौटे प्रवासियों से कोरोना ने फिर पांव पसारे
लखनऊ में सैकड़ों की संख्या में मजदूर मुंबई से लौटकर आ रहे हैं। अब तक 23 प्रवासी कामगार कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम प्रवासी कामगारों की लगातार जांच करा रही है। सैकड़ों लोग क्वॉरंटीन हैं। इनकी जांच कराई जा रही है। जैसे-जैसे रिपोर्ट आ रही है। संक्रमण का पता चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने ग्राम प्रधान समेत अन्य स्थानीय समितियों की मदद से मजदूरों को गांव के बाहर क्वॉरंटीन किया जा रहा है।

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad