Type Here to Get Search Results !

कोरोना मरीजों को रोज देना होगा 2 हजार कैलोरी का पौष्टिक आहार, जारी हुआ डाइट प्रोटोकॉल

0

कोरोना संक्रमित मरीजों को प्रतिदिन 2 हजार कैलोरी का पौष्टिक आहार देना होगा। डायबटिक मरीज को ब्रेड नहीं देनी होगी। कोरोना पॉजिटिव मरीज को चावल, दही, केला और खट्टे फल और कच्चा सलाद नहीं देना होगा। इससे उन्हें खांसी आने का खतरा है। 

हां, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए हल्दी मिलाकर दूध जरूर दिया जा सकता है। फल में सेब दे सकते हैं। कटे फल कतई न दें। क्यों इससे संक्रमण बढ़ने का जोखिम है। क्वारंटाइन बेड पर जिन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी हैं, उन्हें चावल, दही व केला दिया जा सकता है। कोरोना संक्रमित मरीजों को मांसाहारी भोजन देने की मनाही है।

डायटीशियन कमेटी की रिपोर्ट को सभी कोविड अस्पतालों में लागू करने के निर्देश 
सरकारी और निजी मेडिकल कालेजों व चिकित्सा संस्थानों में बने कोविड- 19 के अस्पतालों में पौष्टिक आहार दिए जाने का प्रोटोकॉल बनाने के लिए  चिकित्सा शिक्षा विभाग ने मेडिकल कालेजों के डायटीशियन की एक कमेटी बनाई। इसी कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर विभाग ने सभी मेडिकल कालेजों और चिकित्सा संस्थानों के प्रमुखों को कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के  लिए सबेरे का नाश्ता, दोपहर का भोजन, शाम की चाय और रात का भोजन देने के निर्देश दिए हैं। 

फैकल्टी को बनाना होगा किचन कमेटी का प्रभारी
आगरा, मेरठ व सहारनपुर सरीखे मेडिकल कालेजों में कोरोना मरीजों को गुणवत्तायुक्त भोजन न मिलने की शिकायतों के बाद विभाग ने   यह डॉयट प्रोटोकॉल जारी किया है। इसके तहत मेडिकल कालेजों को अपने एक फैकल्टी के सदस्य को किचन कमेटी का प्रभारी बनाया जाना है। उस कमेटी में मेडिकल कालेज की डायटीशियन भी शामिल किया जाएगा। 

Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad