फूलों की बारिश के बीच कोरोना को हराने वाले आठ लोगों को भेजा घर, सबने कहा- आत्मविश्वास जरूरी - Dildarnagar News and Ghazipur News✔ Buxar News | UP News ✔

Breaking News

Thursday, 7 May 2020

फूलों की बारिश के बीच कोरोना को हराने वाले आठ लोगों को भेजा घर, सबने कहा- आत्मविश्वास जरूरी



कोरोनावायरस के संक्रमण से जूझ रहे भोजपुरवासियों के लिए 40 दिन के बाद सबसे बड़ी राहत की खबर बुधवार को मिली। एकसाथ आरा में 8 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के ठीक हो जाने के बाद उन्हें शहर के धनुपरा अवस्थित रिसोर्ट से छुट्टी दे दी गई। सभी को छुट्टी देने के मौके पर डीएम रोशन कुशवाहा व सिविल सर्जन एलएन झा समेत कई वरीय अफसर व कर्मी मौजूद थे। सभी मरीजों को ले जाने के लिए उनके कई परिजन भी एकसाथ आए हुए थे। इस क्रम में कोरोनावायरस से जंग जीत आइसोलेशन सेंटर से घर जाने के लिए गुंजा कुमारी, गुड़िया कुमारी, पूजा देवी, चंदन कुमार, राकेश सिंह, अमन उपाध्याय, करिया और राम दयाल सिंह निकले।
इस दौरान सभी लोगों पर पुष्प- वर्षा करने के साथ ताली बजाते हुए डीएम व समेत अन्य वरीय अफसर और कर्मचारियों ने स्वागत किया। सभी को फूल की माला पहनाते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एक-एक विशेष प्रकार का किट भी प्रदान किया गया। इस मौके पर सभी मरीजों को घरों में 14 दिन तक क्वारान्टीन रहने का भी निर्देश दिया गया। दूसरी तरफ डीएम रोशन कुशवाहा नेे बताया कि भोजपुर जिले मेंं कोरोना वायरस से पीड़ित 18 लोगों में से 8 लोगों को बुधवार के दिन आरा से घर के लिए छोड़ा गया। दो लोगों को पटना से भी छोड़ा गया है। बड़हरा प्रखंड का एक मरीजों को पहले ही छोड़ा जा चुका है। इस प्रकार जिले में अब तक 18 कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों में से 11 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। डीएम ने बताया कि 12वें मरीज की सैंपल टेस्ट दो बार नेगेटिव आ चुकी है और तीसरी बार नेगेटिव आने पर उसेे भी छोड़ दिया जाएगा।


कोरोना विजेताओं ने प्रशासनिक व्यवस्था की प्रशंसा की
कोरोना वायरस से जंग लड़ कर विजेता बने सभी 8 लोगों ने आइसोलेशन सेंटर में रहने के दौरान प्रशासनिक व्यवस्था की प्रशंसा की। शहर के नाला रोड निवासी अमन उपाध्याय, भलुहीपुर निवासी गुंजा कुमारी, गौसगंज निवासी होमगार्ड जवान रामदयाल सिंह और सदर अस्पताल में कार्यरत जीएनएम गुड़िया कुमारी ने बताया कि कोरोना वायरस से जंग लड़ने में सबसे ज्यादा आइसोलेशन सेंटर में स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के द्वारा मदद किया गया है। समय पर इन सभी के द्वारा मदद नहीं किया जाता, तो यह लड़ाई जीतना मुश्किल था। सभी ने आइसोलेशन सेंटर में रहने के दौरान खाना, नाश्ता, साफ-सफाई समय पर मिलने की जानकारी दी।


गुजरात से आए 20 लोगों को थर्मल स्कैनिंग के बाद भेजा गया क्वारान्टीन सेंटर
चरपोखरी| गुजरात से आया लोगों को प्रशासन की ओर से बुधवार देर शाम को बस से प्रखंड मुख्यालय में पहुंचने पर प्रखंड प्रशासन की ओर से थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद लाखा प्लस टू स्कूल बरनी में बनाए गए क्वारान्टीन सेंटर में वेलकम किट के साथ लोगों को भेजा गया। अंचला अधिकारी बिरेंद्र कुमार ने लोगों को आवश्यक सुविधा मुहैया कराया। प्रखंड विकास पदाधिकारी के निर्देश पर सभी लोगों की थर्मल स्कैनिंग कराने के साथ ही हैं उन्हें उचित मार्गदर्शन देते हुए 21 दिन के क्वारान्टीन सेंटर में रहने की बात बताई गई।बाहर से आने वाले लोगों में पसौर, बेताबी,मझियंव और मुकुंदपुर सहित प्रखंड के विभिन्न गांव के लोग शामिल हैं।


प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए 15 बसें रवाना
भोजपुर जिले के प्रवासी मजदूरों को राज्य के विभिन्न जिलों से लाने के लिए आरा से परिवहन विभाग ने 15 बस को रवाना कर दिया है। डीटीओ माधव कुमार सिंह ने बताया कि गया, मुजफ्फरपुर, बरौनी, बरौनी, पूर्णिया छपरा और दानापुर के लिए कुल 15 बसों को यहां से रवाना किया गया है।

No comments:

Post a comment