तीन माह से राशन नहीं मिलने से नाराज लाभुकों ने जविप्र दुकान में किया हंगामा - Dildarnagar News and Ghazipur News✔ Buxar News | UP News ✔

Breaking News

Sunday, 26 April 2020

तीन माह से राशन नहीं मिलने से नाराज लाभुकों ने जविप्र दुकान में किया हंगामा



बसंपुर प्रखंड अंतर्गत रतनपुरा पंचायत के वार्ड 06 स्थित पीडीएस दुकान में राशन नहीं मिलने से आक्रोशित अंत्योदय और पीएचएच राशन कार्डधारी महिला लाभार्थियों ने शनिवार की सुबह जमकर हंगामा किया। लाभुकों का कहना था कि पिछले तीन माह से पीडीएस दुकानदार सूर्यनारायण सिंह द्वारा आवंटन नहीं रहने व ई पॉश मशीन पर अंगूठा लगाने के बाद कार्ड नहीं खुलने की बहाना बनाकर उनलोगों को बिना राशन दिए वापस भेज दिया जाता है। अंत्योदय और पीएचएच कार्डधारी बुधनी देवी, विजया देवी, गीता देवी, कौशल्या देवी, सकुन्ती देवी, रीता देवी, दयावंती देवी, सरिता देवी आदि महिला उपभोक्ताओं ने बताया कि पीडीएस दुकानदार कई प्रकार के बहाने बनाकर पिछले तीन महीने से राशन नहीं दे रहा है।

पिछले माह 11 लोगों को नहीं दिया गया था राशन

अब प्रधानमंत्री के द्वारा दी जानेवाली राहत को भी हजम करने की फिराक में है। इसलिए उनलोगों को परेशान किया जा रहा है। हालांकि, स्टॉक के संबंध में पूछे जाने पर जनवितरण प्रणाली विक्रेता का कहना है कि 11 लोगों को पिछले माह राशन नहीं दिया गया है। जिसका 385 किलोग्राम राशन जमा होना चाहिए लेकिन स्टॉक में 55 किलोग्राम राशन ही उपलब्ध है। जब विक्रेता से पूछा गया कि आखिर शेष राशन कहां गायब हो गया तो उन्होंने बताया कि मुझे पता नहीं है। ऐसे में समझना मुश्किल नहीं है कि आखिर राशन की कालाबाजारी कहां हुई?

तराजु की जगह मेनुअल माप से दिया गया अनाज
दुकान पर सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ रही थी। इतना ही नहीं जिन लाभार्थियों को राशन दिया गया। उन्हें इलेक्ट्रानिक तराजु की जगह मेनुअल तराजु से माप कर अनाज दिया गया। लोगों ने बताया कि पीडीएस द्वारा दिए गए वजन में प्रत्येक 10 किलोग्राम की माप पर लाभार्थी को एक किलोग्राम अनाज कम मिल रहा है। इस संबंध में पूछे जाने पर सहायक जिला आपूर्ति पदाधिकारी विजय कुमार ने बताया कि सरकारी नियमानुसार सभी लोगों को अनाज दिया जाना है। किसी प्रकार की अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पीड़ित के द्वारा आवेदन मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

योजना के तहत मिलना है लाभुकों को खाद्यान्न
गौरतलब है कि लॉक डाउन के बाद प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत पूरे देश में सभी लाभुकों को प्रति यूनिट मुफ्त में पांच किलो अनाज दिया जाना है। लेकिन लाभार्थियों के अनुसार रतनपुरा में इस योजना का अनाज भी पीडीएस दुकानदार लाभार्थी को देने के लिए तैयार नहीं हैं। जबकि लॉकडाउन के मद्देनजर पीडीएस दुकान पर कई तरह के नियमों के पालन का निर्देश प्रशासन द्वारा दिया गया है। यहां पर न तो लाभार्थियों के लिए हाथ धोने की सुविधा थी और ना ही कोई भी लाभार्थी मास्क ही पहने थे।

राशन कार्ड में गड़बड़ी पर वीणा के लाभुकों ने किया अंदौली चौक पर दो घंटे सड़क जाम
सुपौल|आपदा के इस घड़ी में गरीब परिवार को अन्न के लिये मोहताज नहीं होना पड़े। इसके लिये सरकार ने हर गरीब कार्डधारी परिवार को उनके मूल आवंटन के अलावा पांच किलो चावल फ्री में दिए जाने का निर्देश दिया है। सदर प्रखंड के वीणा पंचायत के लाभुकों का आरोप है कि डीलर की मनमानी के कारण उन्हें खाद्यान्न से वंचित किया जा रहा है। इसी आक्रोश में डीलर के विरुद्ध सैकड़ों लाभुकों ने अंदौली चौक पर सड़क जाम कर हंगामा किया। जाम की सूचना पर बीडीओ राहुल राज और सीओ प्रभाष लाल लाभ मौके पर पहुंचकर आक्रोशित लाभुकों को समझाया और लाभुकों की तकनीकी समस्या का निराकरण जल्द करने का आश्वासन दिए जाने के बाद आक्रोशित लोग शांत हुए। दरअसल इन दिनों कई कार्डधारियों के कार्ड ऑनलाइन करने पर खुलते नहीं है जिसके चलते डीलर उन्हें खाद्यान्न नही देते। इस विभागीय तकनीकी खराबी के कारण जिले भर में कई जगह प्रदर्शन भी हुए हैं। बाबजूद विभाग इस दिशा में कोई ठोस पहल नहीं कर रही है, जिसका खामियाजा लाभुकों को भुगतना पड़ रहा है। खैर बीडीओ ने इस तकनीकी खराबी के जल्द ठीक हो जाने की बात कही है। अब देखना होगा कि कब तक इस समस्या का निदान हो पाता है।

No comments:

Post a comment