दिल्ली से खुद को मरीज बता एंबुलेंस से त्रिवेणीगंज पहुंचे 7 लोग बाजार में घूम रहे - Dildarnagar News and Ghazipur News✔ Buxar News | UP News ✔

Breaking News

Monday, 27 April 2020

दिल्ली से खुद को मरीज बता एंबुलेंस से त्रिवेणीगंज पहुंचे 7 लोग बाजार में घूम रहे



त्रिवेणीगंज बाजार के बस स्टैंड के समीप रहने वाला एक परिवार शनिवार को दिल्ली के सफदरगंज से एंबुलेंस लेकर अपने घर पहुंचे है। सफदरगंज से चले इस एंबुलेंस में मधेपुरा के मीरगंज के रहने वाले दो परिवार के लोग भी सवार थे। सभी बीमारी का बहना बनाकर हरियाणा नंबर की एंबुलेंस लेकर घर दिल्ली से त्रिवेणीगंज पहुंचे हैं। एंबुलेंस में सात त्रिवेणीगंज के सात लोग सवार थे।
जिनका पुलिस ने मेडिकल जांच कराया है और सभी को होम क्वारेंटाइन रहने को कहा है। बताया जाता है कि सात ये लोग लॉकडाउन से पहले किसी का इलाज करने के लिए दिल्ली गए थे, लेकिन 24 मार्च के बाद वहीं फंस गए। 40 दिनों के बाद वह मधेपुरा जिले के मीरगंज के रहने वाले दो परिवार के साथ शनिवार की रात्रि त्रिवेणीगंज बाजार पहुचा।
वहीं त्रिवेणीगंज अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. आरपी सिन्हा का कहना है कि देर रात पुलिस 7 लोगों को लेकर आई थी। जिसकी जांच की गई है। लेकिन उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले हैं। हालांकि लॉकडाउन का उल्लंघन और पुलिस की लापरवाही घातक भी साबित हो सकती है।


बाजार में है अफरा-तफरी का माहौल
एंबुलेंस से कई लोगों को उतरता देख पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस द्वारा सभी को अनुमंडलीय अस्पताल जांच के लिए पहुंचाया गया। वहां पर डॉक्टर ने उनसे पूछताछ कर होम क्वारेंटाइन में रहने की सलाह दी। लेकिन सुबह में जब लोगों ने उन्हें बाजार में घूमते देखा तो लोगों में भय का माहौल कायम हो गया। इधर, थानाध्यक्ष सुधाकर कुमार ने बताया कि सभी लोगों को घर मे रहने की सलाह दी गई है। सभी लोग अलग अलग कमरे में हैं और बाहर से ताला बंद कर दिया गया हैं।

दिल्ली से गणपतगंज दो बाइक से पहुंचे 4 लोग, एक फरार
राघोपुर|कोरोना की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच राघोपुर के गणपतगंज निवासी के रिश्तेदार दिल्ली से गणपतगंज बाइक से पहुंचे। मालूम हो कि उनका पुत्र, दामाद एवं साला सहित अन्य एक व्यक्ति दो बाइक से गणपतगंज तक पहुंचे थे। इसकी जानकारी राघोपुर थाना एवं आरडीओ को फोन से दी गई। वहीं जनप्रतिनिधियों ने डॉक्टर से संपर्क साधा। डॉक्टर ने कहा कि उनको 14 दिनों की देखरेख में रहने को कहा गया है। लेकिन मौका देखते ही सभी लोग घंटे भर में वहां से फरार हो गए। उक्त घटना स्थल पर प्रशासनिक अधिकारियों ने पहुंच कर दो लोगों को क्वारेंटाइन किया। जबकि दिल्ली से आए एक व्यक्ति फरार हो गया। फरार देवानगंज का रहने वाला है।

No comments:

Post a comment